chuha or billi ki kahani | बिल्ली और चूहे की दोस्ती-Hindi Story

chuha or billi ki kahani

दोस्तों अगर आप chuha or billi ki kahani पढने के लिए इंटरेस्ट हे,तो आप हमारे इस बिल्ली और चूहे की दोस्ती वाली Hindi Story को जरुर पढ़े | बहुत ही मजेदार कहानी हे आपको पढ़ने में बहुत ही मजा आयेगा और आप इस Story को अपने बच्चों को भी सुना सकते हे |

Hindi stories for kids ?

दोस्तों बच्चो को daily एक नयी Hindi story जैसे chuha or billi ki kahani और short stories और भी बहुत सारे old stories सुनाना चाहते हे तो ये सभी आपको हमारे website पर मिल जायेगा |

chuha or billi ki kahani
chuha or billi ki kahani

 

Chuha or billi ki kahani – अजीब तो लगता है, पर एक बार एक बिल्ली और एक चूहे की दोस्ती हो गयी। बिल्ली और चूहे के बीच जाती भेदभाव होने के बावजूद दौनों एक अच्छे दोस्त थे। एक दिन बिल्ली एक घर में घुसकर चोरी छुपे दुध पिने लगे घर के मालिक ने बिल्ली को दुध पीता देखकर एक दंडे लेकर बिल्ली के एक पैर तोर दिया। बिल्ली के उस चोट को देखकर चुहा को बहुत तरस आई और उसने उसकी मरहम पट्टी की और उसकी बहुत देखरेख करने लगा।बिल्ली के पूरी तरह ठीक होने तक चूहे ने उसकी दिन रात सेवा करता रहा।चूहे की इस सेवा से खुश होकर बिल्ली ने उसके साथ दोस्ती कर ली।

short stories

अब बहार से जो भी खाने को लाते थे दोनो मिल बाट कर खाते थे। एक बार चुहा बीमार पड़ गया,तब बिल्ली ने उसकी देख रेख की चूहे ने बिल्ली से कहा तुम मेरे सेवा करते हो मुझे अच्छा नहीं लगता है रहने दो बिल्ली इसमे क्या गलती है तुम्ही ने तो कहा था की जो मुसीबत मै हो उसकी सहायता करनी चाहिए। क्या तुम भुल गया अगर दुश्मन भी मुसीबत में हो तो उसकी सहायता करनी चाहिए? ये बात मैनै तुम्ही से सिखा है। चुहा बिल्ली से तुम मेरे बहुत ज्यादा प्रशंशा कर रहे हो उससे मेरी उम्र कम हो सकती है,बिल्ली ये प्रशंशा नही है तुम्हारे उदार स्वाभाव के बारे में ही केह रही हूँ। हम बिल्ली चूहे के जात में हर समय दुशमनी लगा रहता है,हमारे बीच हर बार झगड़ा चलते रहता है इन सब के बावजूद तुम्हारे अच्छे स्वाभाव के कारन हम दोनो के बीच में दोस्ती हूई,हमे देखकर हर जानवर दुश्मनी भूलकर दोस्ती के हाथ बढ़ायेगैं ।

Hindi stories

उस दिन से दोनो एक ही जगह रहने लगे खाने-पीने और सोने लगे,दोनो सुबह उठकर खाने के खोज में निकल पड़े। फिर साम को दोनो अपने घर में मिलते कुछ दिन बाद दोनो को बच्चे पैदा हूई,बिल्ली को दो चूहे को भी दो बच्चे पैदा हूई अपने बच्चे को देखकर दोनो खुशी से झूम रहे थे।जहां भी जाते थे दोनो साथ जाकर अपने बच्चों के लिए खाना लेकर आते थे। चूहे के छोटे होने के कारन उसे खाने की ज्यादा चिंता नहीं होता था,लेकीन बिल्ली के बड़े होने के कारण उसके पैट भर खाना मिलना मुश्कील हो रहा था।

Hindi stories for kids

कहा जाता है कि बिल्ली बच्चों के पेट भरने के लिए उन्हें दस घर घुमाते है बिल्ली ने चूहे को बताई की वह अपने बच्चों को लेकर दुसरे जगह चली जाएगी। बिल्ली चूहे से कहती है मुझे लगता है कि यहाँ रहने से मेरे बच्चे भूखे पेट मर जायेंगे इसलिए मेरा जाना जरूरी है।चहए बिल्ली से कहने लगा के मे भी खाना लाकर तुम्हारे बच्चे को खिलाऊंगा ,मगर तुम जाने की बात नहीं करना दोस्त बिल्ली ने कहा मित्र तुम मुझे समझनेकी कोशीक करो। मै जहाँ भी रहूँगा तम्हें आकार मिलूँगा,तब चूहे ने बिल्ली से कहा ठीक है तुम्हारी इच्छा सिर्फ तुम्हारी बच्चों के बारे में सोच कर हा कर रही हूँ नही तो तुम्हे जाने ही नहीं देता।कभी कभी मिलने जरूर आ जाना नही तो तुम हमे भुल जावोगे।

Interesting GK

chuha or billi ki kahani

जब से बिल्ली चली गयी चुहा बेचारी अकेले रहने लगी बार-बार बिल्ली को याद करके रोते रहते थे।दिन में एक बार जाकर बिल्ली और उसके बच्चों को देखकर आते थे,बिल्ली का घर दूर था फिर भी चुहा बिल्ली को देखने जाती थी। बिल्ली भी कभी कभी चूहे के घर आती थी,दोनो के बच्चे बड़े होने लगे थे छोटे छोटे बातो से एक दुसरे को पुकारने लगे। बिल्ली जहां रह रहा था वहां भी उसको भोजन कम पर रहा था,चुहा कभी कभी बिल्ली के बच्चों के लिए भोजन लेकर आते थे। कुछ दिनो में उस बिल्ली की एक और बिल्ली के साथ दोस्ती हो गयी ये काली बिल्ली थी। बिल्ली और चूहे की दोस्ती काली बिल्ली को खटक ने लगी,काली बिल्ली ने बिल्ली से कहा चूहे के साथ तुम्हारी दोस्ती क्यूँ?हमारे बेरा दर के लोग सुनेगा तो हस परेंगैं। यह सुनकर बिल्ली ने काली बिल्ली की ओर गुस्से से देखा,फिर काली बिल्ली ने कहा पागल बिल्ली तु उस चूहे की दोस्ती के लिए अपन जाती धर्म भुल रही हो तुमको मालुम है बिल्ली हमको चूहे के मास बहुत पसंद है। तुम क्यूँ उससे दोस्ती कर रही हो?अभी हमे ठीक से खाना भी नही मिल रहै है। अगर तुम उस चूहे को मार कर खवोगि तो तुम्हे 3 दिन तक भोजन की जरूरत नहीं होगी उसके बाद तुम्हारी इच्छा।

Hero kaise bane ?

old stories
यहाँ चूहे को भी एक और चूहे के साथ दोस्ती हो गयी,दोस्त चूहे ने कहा तुम एक बिल्ली के साथ दोस्ती कर रहे हो वो बिल्ली कभी भी धोखा दे सकती है तुम्हे मालूम है जानवरों मे सबसे धोकेबाज जानवर बिल्ली होती है उस पर उतना बिशवास मत करो वो कभी भी धोखा दे सकती है। चूहे ने कहा ऐसा मत बोलो वो बिल्ली और सब बिल्ली से अलग है बहुत अच्छा बिल्ली है,उससे मुझे कभी कोई हानी नहीं होगी,वो बिल्ली कभी नही बदलेगी मुझे पुरा भरोशा है।

Cat story hindi

इधर बिल्ली काली बिल्ली की बात सुनकर वो बदल गयी थी वो अपने अन्दर के अहंकार को बहार निकालने लगी,लेकीन चुहा ने किसी का बात नही सुनी। बिल्ली का दिमाग पूरी तरह से खराब हो गया वो पूरी तरह से बदल गयी।
एक दिन बिल्ली चूहे के गैर हाजिर मे उसके घर जाकर उसके बच्चों को बहला फुसला कर अपने साथ घर ले गयी बिल्ली ने अपने बच्चों से कहा की तुम चूहे के बच्चों को खा लो बच्चो तुम्हे भर पेट भोजन मिल जयेगा। मासूम बनकर बिल्ली फिर चूहे के घर गयी बच्चों के घर ना लौटने से चुहा परेशान हो रहा था। हर तरफ अपने बच्चों को खोजने लगा लेकीन कुछ पता नही चलने पर चुहा जोर से रोने लगी। बिल्ली मासूमियत जताते हुआ बिल्ली को समझाने लगे तुम्हारे बच्चे खेलने के लिये ही बहार गये होंगे जरूर वापस आयेंगे। चुहा अपन रोना बन्द नही कर रही थि रोते ही रही इतने मे बिल्ली के बच्चों ने चूहे के बच्चों को लाकर चूहे को सौप दिया बिल्ली के बच्चे ने अपने माँ के इस करतूत को चूहे को बताने लगे बिल्ली ने अपने बच्चों को डाटने लगा इससे बिल्ली को अपमान महशुष हुवा,फिर भी चूहे ने बिल्ली को कुछ नही कहा उसकी तरफ गुस्से से भी नही देखा यह देखकर बिल्ली ने माफी मांगी मुझे माफ़ करो दोस्त में इधर-उधर की बातों मे आकार मै तुम्हे धोखा देने की कोशिश की मैनै बहुत गलत किया मुझे माफ़ करो चूहे से ऐसा कहकर बिल्ली रोने लगी और कहने लगी मे तुम्हे कभी भी धोखा नही दूँगी।

Chuha ki kahani

दोनों इतने गहरे दोस्त बन गए कि जहाँ भी जाते दोनों साथ ही जाते।
घूमना फिरना, कभी इस घर में तो कभी उस पेड़ पर चढ़ना। दोनों खूब मौज मस्ती करते।
एक दिन वो दोनों एक घर में गए तो किचन में एक गिलास में दूध दिखाई दिया।बस दूध देखते ही दोनों को भूख लग गयी।दूध तो गिलास में था इस लिए बिल्ली ने पंजा मार उसे जमीन पर गिरा दिया।
दूध नीचे गिरा और दोनों लपक कर उसे अपनी अपनी जबान से चाटने लगे।
चूहा तो छोटा था इसलिए उसका पेट जल्दी भर गया।
पेट भरते ही वो कोने में जा लेट गया और उसे नींद आ गयी।

hindi story
कुछ देर बाद बिल्ली के चिल्लाने की आवाज़ सुन उसकी नींद टूटी।
आंखें खोलते ही चूहा देखा कि घर के मालिक ने जाल फ़ेंककर बिल्ली को कैद कर लिया है।
बिल्ली को जाल में कैद करके घर का मालिक दुसरे कमरे में चला गया।
उसके बहार जाते ही चूहे ने भाग कर उस जाल को अपने पैने दाँतों से काट दिया।
जाल जैसे कटा की बिल्ली और चूहा दोनों वहां से भाग गए।
और दोनों की दोस्ती और भी पक्की हो गयी।

दोस्तों अगर आपको ये हिंदी कहानी अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे और साथ ही एक प्यारा सा कमेंट करदे धन्यवाद |

Question Covered in This Post –

chuha or billi ki kahani

बिल्ली और चूहे की दोस्ती

Hindi stories for kids

hindi story

cat story

old hindi story

chuha ki kahani

kids hindi story

One thought on “chuha or billi ki kahani | बिल्ली और चूहे की दोस्ती-Hindi Story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *