Hindi funny story with moral | बच्चों के लिए मजेदार-Hindi Story

 

नमस्कार दोस्तो कैसे हो,स्वागत है आप सभी का हमारे इस

Hindi stories के वेबसाइट में आज में आपलोगो को एक

ऐसी Hindi funny story बताने जा रहा हूँ।जिसे आप

पढ़कर अपने छोटे बच्चों को सुना दिया ना,वो आपके फैन

हो जायेंगे।तो आपलोग इस कहानी को बच्छो के साथ

जरूर शेयर कीजियेगा।

hindi funny story

funny story in hindi with moral:-

एक गाँव मे बासो नाम का एक बकरी चरवा रहता था। बासो बहुत

ही भोला था। बासो भोला नाम के एक आदमी के पास काम करता था।

बासो हर दिन भोला के बकरी को खेत ले जाकर उन्हें चारा खिलाता था।

भोला उन्हें बिना पता चले उसके पीछे ही जाता था।जब बासो एक पेड़ के

नीचे विश्राम करता था। तो वो चुपके से एक बकरी को लेजाकर

उसे बाजार में बेच देता था।शाम को जब बासो बकरी लेकर आता तो भोला

उन बकरियों को गिनता ओर फिर बोलता “कियो रे आज तुम फिर एक बकरी

को खो दिया ।तुम्हे पता है एक बकरी की कीमत क्या होती है। अब तक

तुम 30 बकरीयो को खो चुके हो,उस हिसाब से तुम्हे मेरे पास 3 साल तक

बिना तनखा के काम करना होगा।तभी तुम्हारा उधार चुकेगा”।तब बासो बोलता है,

“भोला मालिक पता नहीं हर दिन कैसे एक बकरी गायब हो जाती है।ऐसे बिना

तनखा के काम करता रहूंगा, तो घर पर बहुत मुश्किल हो जाएगा। घर पर

बेटा और पत्नी भूखे पेट सो रहे है।भोला कहता है,” वो सब मुझे नही पता तुम

बकरियो को तो खो चुके हो।तो मेरे पास काम करना ही होगा,वरना पुलिस

में शिकायत कर दूंगा।

hindi funny story

Interesting GK

Hindi funny story:-

इस तरह भोला हर दिन एक बकरी को खेतों से चुरा लेता है।एक दिन

बासो अपनी पत्नी सुलेखा से बोलता है। हर दिन पता नही बकरी कैसे

खो रही है,मेरे वजह से तुम्हे घर-घर जाकर काम करना पर रहा है।

ये सब बोलकर बासो दुःखी हो रहा था।ये सारी बातें बासो का बेटा

छलिया सुन रहा था। अगले दिन छलिया बासो के साथ खेत गया।

बासो थक के एक पेड़ के नीचे लेटा था। इतने में भोला आकर एक

बकरी को उठा लिया।ये छलिया ने देखा और सोचा “ओ ये बात है”।

तुरन्त छलिया एक बाबा के पास गया, और बासो के साथ जो हो रहा है

उसे सब बताया। बाबा छलिया को एक जरी बूटी देकर कहा”बेटा ये

मायावी जरी बूटिया है,में जैसा कहता हूं तुम वेसे करो”। ओर बाबा

ने छलिया को कुछ कहा।

hindi funny story

Hindi funny story with moral:-

अगले दिन खेतो में भोला रोज की तरह एक बकरी को उठाने के लिए आया।

तब छलिया वो बकरी के सामने उस जरी को फेक दिया,बकरी ने उसे खा लिया|

बकरी अब बहुत बड़ी बकरी में बदल गयी।उस बकरी को देखकर

भोला डर गया,बकरी अपनी सिंग से भोला पर वार करने के लिए नीचे झुकी।

और उसे देखकर भोला डर के मारे भागने लगा।और वो बकरी उसके पीछे

दौड़ने लगी,भोला गाँव के तरफ भाग रहा था और बकरी भी उसके पीछे

दौर रही थी।तब भोला एक रेलवे गेट पार किया और बकरी भी उस ट्रैन को

पर कर गयी।फिर भोला भगते-भागते थक कर एक जगह पर रुका।तब वे

बकरी को प्रणाम करते हुवे बोला स्वामी मुझे कुछ मत करो,में तुम्हारे आगे

हाथ जोड़ता हूँ। यू विनती किया,तब बकरी ने कहा “में तुम्हें कुछ नहीं करूँगा

लेकिन अब तक तुम बासो को बिना तनखा के जो काम कराये हो उसका

उसे पैसे देने होंगे।और फिर उसे कभी धोखा नहीं दोगे।तब भोला बोलता

है ठीक है स्वामी जैसा आप कहोगे वेसे ही करूँगा, अब आप सांत हो जाइए।

तब वो बकरी फिर से छोटा हो गया।

hindi funny story

Hindi funny motivational story:-

और भोला ने बासो को पूरे पैसे दिए।फिर भोला बोला “ओ बासो भाई अब

तक मैंने जो आपको धोखा दिया है उसके लिए मुझे माफ करदो।अबसे में

तुम्हें अच्छी तनखा दूँगा।लेकिन वो मायावी बकरी को मेरे पीछे कभी मत

छोड़ना भाई।ये मायावी बकरी क्या है ये सोचकर बासो अपनी सर पकड़ा ।

छलिया ये सब देखकर मुस्कुराया।

 

 

तो दोस्तों आपलोगो को इस Hindi Funny Story से क्या सिख मिला

हमे कमेंट में जरूर बताये,और अपने बच्चों को भी बताए। इससे बच्चे

को अच्छी सिख मिलेगी।

Hindi love story in short | हिंदी लव स्टोरी-Love story Kahani

Question Covered in This Post :-

hindi funny story

hindi funny story with moral

funny hindi stories with a moral

funny story in hindi with moral

hindi funny motivational story

hindi funny story for kids

One thought on “Hindi funny story with moral | बच्चों के लिए मजेदार-Hindi Story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *